पटवारी कैसे बनें? | पटवारी कौन होता है

आज के समय में हर व्यक्ति अपना करियर एक अच्छे मुकाम पर बनाने की इच्छा रखता है और सरकारी नौकरी भी पाना चाहता हैं बहुत से ऐसे सरकारी विभाग है जो नौकरी उपलब्ध कराते हैं उन्हीं में से एक राजस्व विभाग भी है जिसमे बहुत सी पोस्ट होती है और एक पोस्ट पटवारी या लेखपाल की भी होती है.

patwari kaise bane in hindi
patwari kaise bane in hindi

जो कि क्लर्क ग्रेड की पोस्ट है यदि आप पटवारी बनना चाहते हैं और इससे संबंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा लिखे गए आज के इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

पटवारी कौन होता है

पटवारी राजस्व विभाग का एक क्लर्क ग्रेड का अधिकारी होता है जो भूमि से संबंधित कार्य जैसे- भूमि का आवंटन, भूमि का लेखा-जोखा, भूमि की नाप-जोख करना और इसका रिकॉर्ड रखना आदि करता है पटवारी की नियुक्ति यूपीएसएसएससी यानी उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड द्वारा की जाती है यह एक प्रतिष्ठित पद होता है जिसके लिए सरकार द्वारा अच्छा खासा वेतन दिया जाता है और साथ ही एक पटवारी को समाज में प्रशंसा और मान सम्मान भी मिलता हैपटवारी को लेखपाल कहते है.

पटवारी के कार्य

पटवारी राजस्व विभाग से संबंधित अधिकारी होता है जिसे भूमि से संबंधित कार्य करने के लिए नियुक्त किया जाता है पटवारी को निम्नलिखित कार्य करने होते है-

  • भूमि की पैमाइश करना
  • आय प्रमाणपत्रजारी करना
  • जाति प्रमाण पत्र जारी करना
  • निवास प्रमाण पत्र जारी करना
  • कृषक दुर्घटना बीमा देना
  • विधवा पेंशन दिलाने में सहयोग
  • विकलांग पेंशन दिलाने में सहयोग
  • वृद्धावस्था पेंशन दिलाने में सहयोग
  • कृषि और पशुओं की गणना करना
  • आर्थिक सर्वेक्षण में भाग लेना
  • प्राकृतिक आपदाओं से हानि ग्रस्त क्षेत्रों के नुकसान की गणना करना
  • सभी प्रकार का डाटा सरकार को देना
  • राजस्वअभिलेखों का अपडेट रखनाआदि

पटवारी बनने के लिए योग्यता

पटवारी बनने के लिए कैंडिडेट को यूपीएसएसएससी द्वारा निर्धारित सभी पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जो कि निम्नलिखित हैं-

  • पटवारी बनने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले बारहवीं की परीक्षा किसी भी स्ट्रीम में कम से कम 55% अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी होगी.
  • कैंडिडेट के पास CCC कंप्यूटर कोर्स का सर्टिफिकेट होना चाहिए.
  • बारहवीं के पश्चात् कैंडिडेट पटवारी पद हेतु आवेदन कर सकते हैं.
  • पटवारी बनने के लिये कैंडिडेट की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 28 वर्ष निर्धारित की गई है.
  • अधिकतम उम्र-सीमा में आरक्षित वर्गों को छूट भी प्रदान की जाती है जिसमे ओबीसी वर्ग को 3 वर्ष की छूट और एससी/एसटी वर्ग को 5 वर्ष की छूट प्रदान की जाती है.
  • कैंडिडेट भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए और साथ ही शारीरिक एवं मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ होना चाहिए.

पटवारी कैसे बने?

  • उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड द्वारा समय समय पर सरकारी नौकरी के लिए वैकेंसी निकाली जाती है.
  • कैंडिडेट को वेबसाइट पर जाकर समय समय पर नोटिफिकेशन चेक करते रहना होगा.
  • सरकार द्वारा जब पटवारी पद हेतु वैकेंसी निकाली जाए तो ऐप्लिकेशन फॉर्म भरकर आवेदन करना होगा.
  • इसके बाद यूपीएसएसएससी द्वारा आयोजित परीक्षा में प्रतिभाग करना होगा.
  • परीक्षा में बैठना होगा और अच्छे अंकों के साथ परीक्षाएं पास करनी होंगी.
  • परीक्षा के पश्चात मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी जिसके आधार पर पटवारी पद हेतु नियुक्ति की जाएगी.
  • आप परीक्षामेंजितने ज्यादा अंक लाएंगे आपके लिए पटवारी की नौकरी मिलना उतना ही सरल होगा.
  • मेरिट लिस्ट में जिन कैंडिडेट्स का नाम होगा उन्हें पटवारी पद पर नियुक्त किया जाएगा.
  • इस प्रकार आप पटवारी या लेखपाल बन सकेंगे.

पटवारी का परीक्षा पैटर्न

पटवारी पद हेतु किसी भी प्रकार का इंटरव्यू आयोजित नही किया जाता है इसमें सिर्फ लिखित परीक्षा होती है.

पटवारी पद हेतु यूपीएसएसएससी द्वारा आयोजित लिखित परीक्षा में सामान्य हिंदी से 25 अंकों के 25 प्रश्न, गणित से 25 अंकों के 25 प्रश्न, सामान्य ज्ञान से 25 अंकों के 25 प्रश्न और गांव ग्राम समाज और विकास विषय से 25 अंकों के 25 प्रश्न पूछे जाते हैं यह परीक्षा कुल 100 अंकों की होती है इस परीक्षा में आप जितने अच्छे अंक प्राप्त करेंगे पटवारी बनने की उतनी ज्यादा संभावना होगी क्योंकि मेरिट लिस्ट लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर बनाई जाती है.

पटवारी पद हेतु परीक्षा की तैयारी कैसे करें

  • पटवारी पदहेतु अपनी योग्यता साबित करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड यानी यूपीएसएसएससीद्वारा आयोजितपेट परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा.
  • कैंडिडेट्स को यूपीएसएसएससी द्वारा निर्धारित सिलेबस का अध्ययन परीक्षा होने से छह महीने पहले ही शुरू कर देना चाहिए.
  • पटवारी बनने के लिए कैंडिडेट्स को हिंदी, अंग्रेजी, जीके, मैथ,गांव ग्राम समाज और विकास, करंट अफेयर्स आदि सभी विषयों इस पर ध्यान देना होगा.
  • इसके साथ ही भूगोल, विज्ञान, इतिहास, संविधान, अर्थशास्त्र जैसे विषयों पर भी ध्यान देना होगा.
  • राज्य और केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं के विषय में जानकारी होनी चाहिए.
  • करंट अफेयर्स और जीके के लिए आप मैगजीन और मासिक पत्रिकाओं के माध्यम से पढ़ सकते हैं.
  • विश्व स्तर पर कौन सी घटना घटित हो रही है इस संबंध में भी आपको जानकारी होनी चाहिए.
  • आपको गणित और रिजनिंग पर ज्यादा ध्यान देना होगा क्योंकि सबसे ज्यादा समय इन्हीं प्रश्नों को हल करने में लगता है.
  • परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए आपको समय प्रबंधन करके पढ़ाई करनी होगी.
  • अपने सिलेबस को छोटे छोटे भागों में विभाजित करके टारगेट सेट करके सिलेबस कंप्लीट करना होगा.
  • पढ़ने के साथ साथ लिखने का भी अभ्यास करते रहना चाहिए.
  • ऑफलाइन अध्ययन सामग्री के साथ साथ ऑनलाइन अध्ययन सामग्री पर ध्यान देकर आप बेहतर रिज़ल्ट प्राप्त कर सकेंगे.
  • पुराने प्रश्नपत्रों को हल करना चाहिए जिससे आपको अग्रिम परीक्षा के बारे में एक आइडिया प्राप्त हो जाएंगे.
  • किसी भी परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए स्टूडेंट को टाइम मैनेजमेंट करना बहुत ही आवश्यक है टाइमटेबल बनाकर आप अपने सिलेबस का अध्ययन करेंगे तो आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी.
  • समय समय पर मॉक टेस्ट देते रहें जिससे आपको यह पता चलता रहेगा कि आपने कितनी तैयारी की है.
  • पटवारी की परीक्षा से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां आपको ऑफ़िशियल वेबसाइट के माध्यम से प्राप्त करनी होगी और उसी के हिसाब से पढ़ाई करनी होगी.

पटवारी की सैलरी

किसी भी जॉब को करने से पहले व्यक्ति के मन में उससे मिलने वाले वेतन के बारे में जानने की जिज्ञासा उत्पन्न होती है तो हम आपको बता दें कि पटवारी बनने के बाद आपको सरकारी वेतन ग्रेड पे 5200 से लेकर ₹20,200 तक मिलता है पटवारी एक सरकारी पद है जिसके लिए वेतन के साथ साथ सरकार द्वारा अन्य सुविधाएं भी दी जाती है जैसे- मुफ्त आवास, मुफ्त यात्रा,मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं आदि.

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया है आज का लेख “पटवारी कैसे बने” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment