ACP ऑफिसर कैसे बनें? | ACP का फुल फॉर्म क्या होता है

UPSC द्वारा प्रत्येक वर्ष सिविल सेवाओं के लिए परीक्षाएं आयोजित की जाती है यदि आप सिविल सर्विसेज में जाना चाहते हैं और ACP बनना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए ही है पुलिस विभाग बहुत बड़ा नेटवर्क है जिसमें कई सारी पोस्ट होती है जैसे- कॉन्स्टेबल, हेड कांस्टेबल, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर एसएसपी, एसपी, ACP आदि.

acp kaise bane in hindi
acp kaise bane in hindi

जो देश की प्रशासन व्यवस्था बनाए रखने का कार्य करती है और देश में शांति बनाए रखती है यदि आप निस्वार्थ भाव से जनता की सेवा करना चाहते हैं तो यह जॉब आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको ACP कैसे बने, इसके लिए क्या योग्यता होती है, और सैलरी कितनी मिलती है इन सभी विषयों से संबंधित जानकारियां प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढें.

ACP का फुल फॉर्म क्या होता है

ACP का फुल फॉर्म Assistant Commissioner of Police होता है जिसे सहायक पुलिस आयुक्त भी कहा जाता है.

ACP कौन होता है

पुलिस विभागबहुत बड़ा नेटवर्क है जिसमें ACP का पदभी बड़ा और प्रतिष्ठित होता है ACP एक IPS अधिकारी होता है जिसकी यूनिफॉर्म में तीन स्टार लगे होते हैं ACP की पोस्ट डायरेक्ट नहीं मिलती इसके लिए प्रमोशन होता है आईपीएस ऑफिसर बनने के बाद आपको डीएसपी बनाया जाएगा जिसके बाद आपको प्रमोशन के जरिए ACP की पोस्ट पर नियुक्त किया जाएगा ACP अपने से नीचे आने वाले सभी अधिकारियों को दिशानिर्देश देता है और उनसे कार्य करवाता है अपने सभी कार्यों की रिपोर्ट एसपी को देता है.

ACP कैसे बने?

पुलिस विभाग में ACP बनने के लिए सबसे पहले आपको UPSC यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित परीक्षादेनी होगी परीक्षा में प्रतिभाग करने के लिए आपको आवेदन करना होगा यूपीएससी समय समय पर एग्जाम के लिए नोटिफिकेशन जारी करती है एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद आपको एग्जाम डेट आने का इंतजार करना होगा उसके बाद परीक्षा देनी होगी और उसमें पास होने के साथ साथ अच्छी रैंक भी लानी होगी यूपीएससी द्वारा यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है पहला प्राथमिक परीक्षा, दूसरा मुख्य परीक्षा और तीसरा इंटरव्यू.

इन सभी परीक्षाओं में पास होने के बाद मेरिट तैयार की जाती है जिसके आधार पर IPS ऑफिसर के तौर पर कैंडिडेट की नियुक्ति की जाती है और ट्रेनिंग के बाद उन्हें डीएसपी बनाया जाता है और प्रमोशन के बाद ACPके पद पर नियुक्त किया जाता है.

ACP बनने के लिए योग्यता

ACP बनने के लिए उम्मीदवार को UPSC द्वारा निर्धारित सभी पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जो कि निम्नलिखित है-

शैक्षणिक योग्यता

ACP बनने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार को 10वीं और 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी उसके बाद किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होगी बिना ग्रैजुएशन कंप्लीट किए आप ACP नहीं बन सकते हैं.

उम्रसीमा

ACP बनने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 32 वर्ष होनी चाहिए आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम उम्र सीमा में छूट का प्रावधान है जिसमें ओबीसी वर्ग के लिए 3 वर्ष की छूट और एससी/एसटी वर्ग के लिए 5 वर्ष की छूट का प्रावधान है.

शारीरिक योग्यता

ACPबनने के लिए महिला उम्मीदवार की न्यूनतम हाइट 150 सेंटीमीटर तथा पुरुष उम्मीदवार के हाइट 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए पुरुष उम्मीदवार के सीने की माप 85 सेंटीमीटर होनी चाहिए आँखों की रौशनी सही होनी चाहिए उम्मीदवार पूरी तरह सेस्वस्थ होना चाहिए उसे किसी भी प्रकार का गंभीर रोग नहीं होना चाहिए.

ACP बनने की प्रक्रिया क्या होती है?

ACP बनने के लिए आपको निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने होंगे जो इस प्रकार है-

आवेदन प्रक्रिया

ACPबनने के लिए सर्वप्रथम आपको यूपीएससी द्वारा आयोजित आईपीएस की परीक्षा में बैठना होगा और उसमें लिए आवेदन करना होगा जोकि वर्ष में एक बार ही होता है आपको पता करना होगा कि फॉर्म कब निकल रहे है उसके बाद आवेदन करना होगा और फिर परीक्षा की तिथि पता करनी होगी उसी तिथि में परीक्षा देनी होगी.

प्रारम्भिक परीक्षा

सबसे पहले आपकी प्रारम्भिक परीक्षा होती है यह परीक्षा ऑफलाइन होती है जिसमे GS के दो पेपर होते है प्रत्येक पेपर 200 अंको का होता है और एक पपेर के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है यह परीक्षा ऑब्जेक्टिव होती है .

मुख्य परीक्षा

प्रारम्भिक परीक्षा पास करने के बाद आप मुख्य परीक्षा के लिए बैठते है इसमें 9 पेपर होते है जिसमे से एक वैकल्पिक विषय का होता है जो आप अपने हिसाब से चुन सकते है जिस विषय में आपकी रूचि हो यह परीक्षा सब्जेक्टिव टाइप होती है और प्रारम्भिक परीक्षा से कठिन होती है .

इंटरव्यू

दोनों परीक्षाएं पास करने के बाद आपको अंतिम चरण यानि इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है इंटरव्यू 250 अंकों का होता है जिसमें आपका पर्सनालिटी टेस्ट होता है कुछ सवाल पूछे जाते है और आपकी मानसिक तथा तार्किक शक्ति का परीक्षण किया जाता है और फिर इसके बाद मेरिट बनायीं जाती है जिसके बाद IPS ऑफिसर की नियुक्ति होती है पहले आपको DSP बनाया जाता है और फिर प्रोमोशन के बाद आपकी नियुक्ति एक ACP के पद पर होती है.

ACP का वेतन कितना होता है?

किसी भी जॉब को करने से पहले व्यक्ति के मन में उससे मिलने वाले वेतन के बारे में जानने का जिज्ञासा उत्पन्न होती है तो हम आपको बता दें कि ACP बनने के बाद आपकी सैलरी लगभग 20000 रुपये से 40000 रुपये तक प्रतिमाह हो सकती है साथ ही ग्रेड पे 2400 रुपये मिलता है और इसके साथ ही कई सरकारी सुविधाए भी मिलती है जैसे- मुफ्त आवास, मुफ्त बिजली, नौकर, फ्री यात्रा, वाहन और ड्राइवर, पानी, परिवार का निशुल्क इलाज आदि.

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको ACP कैसे बने, इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ACP की सैलरी और इसके परीक्षा पैटर्न के बारे में बताया है आशा है की आपको यह जानकारी पसंद आई होगी यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानना चाहते है तो हमें कमेंट कर सकते है.

Leave a Comment