कस्टम अधिकारी कैसे बनें? | कस्टम अधिकारी कौन होता है?

आज के समय में सभी व्यक्ति अपना करियर एक अच्छे मुकाम पर बनाना चाहते हैं भारत में ऐसे कई सारे विभाग है जो जॉब उपलब्ध कराते हैं उन्हीं में से एक राजस्व विभागभी है जिसके केंद्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड के संचालन के लिए कस्टम अधिकारी को नियुक्त किया जाता है

custom Adhikari Kaise bane
custom Adhikari Kaise bane

यदि आप कस्टम अधिकारी बनना चाहते हैं तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इससे संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

कस्टम अधिकारी कौन होता है?

कस्टमर अधिकारी राजस्व विभाग द्वारा नियुक्त किया जाता है जिसका कार्य उत्पादन शुल्क और सीमा शुल्क अर्जित करना होता है कस्टम अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाली वस्तुओं की जांच पड़ताल करता है और निषेध वस्तुओं के प्रवेश को रोकता है वस्तुओं के आयात निर्यात संबंधी कर वसूलने का काम करता है और साथ ही स्मगलिंग को भी रोकता है.

कस्टम ऑफिसर के कार्य

  • कस्टम ड्यूटी टैक्स एकत्रित करना
  • निषेध वस्तुओं के आयात निर्यात पर रोक लगाना
  • वस्तुओं और मालिको पूर्ण रूप से जांच करना
  • स्म*गलिंग को रोकने के लिए तलाशी लेना
  • अपराधी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करना
  • अपराधियों की पहचान करने के लिए पूछ ताछ करना
  • आयात निर्यात से संबंधित दस्तावेजों की जांच करना
  • आरोपियों पर नजर बनाए रखना

कस्टम अधिकारी बनने के लिए योग्यता

कस्टम अधिकारी बनने के लिए आपको उत्पादन शुल्क और सीमा शुल्क बोर्ड द्वारा निर्धारित सभी पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जोकि निम्नलिखित है-

  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए कैंडिडेट के पास ग्रैजुएशन की डिग्री जरूर होनी चाहिएजो कम से कम 55% अंकों के साथ उत्तीर्ण की गई हो.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए कैंडिडेट की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 28 वर्ष होनी चाहिए.
  • अधिकतम उम्र सीमा में आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को छूट प्रदान की जाती है जिसमें ओबीसी वर्ग को 3 वर्ष की छूट और एससी/एसटी वर्ग को 5 वर्ष की छूट प्रदान की जाती है.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए कैंडिडेट की हाइट5 सेंटीमीटर होनी चाहिए और सीना 81 सेंटीमीटर (+5 सेंमी का फुलाव) होना चाहिए.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए कैंडिडेट पूर्ण रूप से स्वस्थ होना चाहिए और भारत का स्थायी नागरिक होना चाहिए.
  • कैंडिडेट के पास ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए.

आवश्यक स्किल

  • बेहतरीन कम्यूनिकेशन स्किल
  • रिलायबल ट्रांसपोर्टेशन
  • टीम वर्कस्किल
  • सहयोग
  • समय प्रबंधन
  • पॉज़िटिव ऐटिट्यूड
  • कार्य के प्रति रुचि
  • पैशन
  • धैर्य
  • साहस
  • जोखिम उठाने का सामर्थ्य

कस्टम अधिकारी का परीक्षा पैटर्न

कस्टम अधिकारी को राजस्व विभाग के अधीन कार्य करना होता है जिसके लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा यूपीएससी की परीक्षा आयोजित की जाती है जिसके माध्यम से कस्टम ऑफिसर की नियुक्ति की जाती है यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है पहला प्रिलिमिनरी एग्जाम,दूसरा मेन्स एग्जाम,तीसरा इंटरव्यू यदि आप इन तीनों चरणों के परीक्षापास कर लेते हैं तो मेरिट के आधार पर आपका चयन कस्टम ऑफिसर के पद हेतु किया जाता है.

प्रिलिमिनरी एग्जाम

सबसे पहले कैंडिडेट को प्रारंभिक परीक्षा देनी होती है इस परीक्षा में अब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं इसमें दो पेपर होते हैं प्रत्येक पेपर 200 अंकों का होता है प्रिलिमिनरी एग्जाम क्लियर करने के बाद कैंडिडेट को मेंस एग्जाम के लिए बुलाया जाता है.

मेंस एग्जाम

प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में बैठना होता है इस परीक्षा में सब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन पूछे जाते हैं यदि आपमेंस एग्जाम क्लियर कर लेते हैं तो आपको अगले चरण के लिए जाना होता है.

इंटरव्यू

मेन्स एग्जाम क्लियर करने के बाद कैंडिडेट को अंतिम चरण यानिइंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है यह एक प्रकार का पर्सनैलिटी टेस्ट होता है जिसमें कैंडिडेट से कुछ सवाल जवाब किए जाते हैं उसकी मानसिक और तार्किक शक्ति का परीक्षण किया जाता है जिसके आधार पर उसे अंक प्रदान किए जाते हैं.

यदि आप सभी परीक्षाएं सफलतापूर्वक उत्तीर्ण कर लेते है तो उसके पश्चात मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है जिन कैंडिडेट्स का नाम मेरिट लिस्ट में होता है उन्हें कस्टम ऑफिसर के पद पर नियुक्त कर दिया जाता है जिससे पश्चात वे अपनी पोस्ट जॉइन करके एक कस्टम ऑफिसर के तौर पर कार्य कर सकते हैं जिसके बदले उन्हें वेतन प्रदान किया जाता है.

कस्टम ऑफिसर की सैलरी

किसी भी पोस्ट को ज्वॉइन करने से पहले व्यक्ति के मन में उससे मिलने वाले वेतन के बारे में जानने की जिज्ञासा उत्पन्न होती है तो हम आपको बता दें कि कस्टम ऑफिसर का वेतन लगभग ₹52,000 प्रतिमाह होता है sकिंतु कुल वेतन मिला कर कस्टम ऑफिसर की मासिक आय लगभग ₹60,000 होती है इसके अलावा सरकार द्वारा अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाती है जैसे- मुफ्त आवास,मुफ्त बिजली, मुफ्त चिकित्सा,मुफ्त यात्रा आदि.

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का आर्टिकल “कस्टम अधिकारी कैसे बने” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment