SSC स्टेनोग्राफर कैसे बनें | स्टेनोग्राफर कौन होता है?

आज के समय में प्रत्येक युवा अपना करियर एक अच्छे पद के साथ ऊंचाई पर बनाना चाहता है नौकरी को लेकर प्रतिस्पर्धाएं इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि आसानी से जॉब मिलना मुश्किल है चाहे वह किसी भी क्षेत्र में हो वैसे तो स्टूडेंट्स के लिए बहुत सारे जॉब अपॉर्चुनिटीज होती है किंतु कुछ स्टूडेंट SSC स्टेनोग्राफर बनना चाहते हैं जिसके लिए उन्हें शॉर्टहैंड और टाइपिंग की जानकारी होनी चाहिए आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको SSC स्टेनोग्राफर बनने से संबंधित सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे तो आर्टिकल को अंत तक जरूर पढें.

ssc stenographer kaise bane
ssc stenographer kaise bane

स्टेनोग्राफर कौन होता है?

स्टेनोग्राफर का काम शब्दों को शॉर्टहैंड करना होता है किसी के द्वारा दिए गए भाषण को तेजी के साथ शोर्टहैंड में लिखना और उन्हें दस्तावेजों के रूप में परिवर्तित करके सुरक्षित रखना स्टेनोग्राफर का काम होता है आशुलिपि एक ऐसी विधि जिससे सामान्य की अपेक्षा अधिक गति से लिखा जा सकता है स्टेनोग्राफर की नियुक्ति विभागों में उच्च पदाधिकारियों द्वारा दिए गए भाषणों को लिपिबद्ध करने के लिए की जाती है.

SSC स्टेनोग्राफर बनने के लिए योग्यता

स्टेनोग्राफर बनने के लिए उम्मीदवार को SSC द्वारा निर्धारित सभी पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जो कि निम्नलिखित है-

शैक्षणिक योग्यता

  • स्टेनोग्राफर बनने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले दसवीं की परीक्षा पास करनी होगी.
  • इसके बाद किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से बारहवीं की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी.
  • स्टोनोग्राफर की पढ़ाई करने के लिए बारहवीं के बाद किसी आईटीआई या पॉलिटेक्निक संस्थान से स्टेनो टाइपिंग का कोर्स करना होगा.
  • स्टेनोग्राफर बनने के लिए कैंडिडेट को कंप्यूटर का नॉलेज भी होना चाहिए जिसके लिए वह किसी शिक्षण संस्थानों से संपर्क कर सकता है.
  • स्टेनोग्राफर बनने के लिए हिंदी इंग्लिश दोनों भाषाओं में शॉर्टहैंड आनी चाहिए.

उम्रसीमा

  • स्टेनोग्राफर बनने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए.
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम उम्र सीमा में छूट का प्रावधान है जिनमें ओबीसी वर्ग के लिए 3 वर्ष की छूट और एससी/एसटी वर्ग के लिए 5 वर्ष की छूट का प्रावधान है.
  • उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए.

स्टेनोग्राफर कैसे बने?

स्टेनोग्राफर की पोस्ट पाने के लिए सबसे पहले बारहवीं पास करनी होगी उसके बाद स्टोनोग्राफर के पद हेतु आवेदन करना होगा आवेदन के पश्चात परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी जिनमें प्रतिभाग करना होगा और अच्छे अंकों से परीक्षाएं पास करनी होंगी जिसके बाद मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी और मेरिट के आधार पर स्टेनोग्राफर पद हेतु कैंडिडेट की नियुक्ति की जाएगी यदि मेरिट लिस्ट में आपका नाम होगा तो आपको भी स्टेनोग्राफर के पद पर नियुक्त किया जाएगा.

स्टेनोग्राफर हेतु आवेदन

जूनियर स्टेनोग्राफर बनने के लिए सबसे पहले आपको आवेदन करना होगा SSC की ऑफीशियल वेबसाइट पर जाकर आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं एससी/एसटी, पीडब्ल्यूडी, महिला, ट्रांसजेंडर, अल्पसंख्यक आदि के लिए आवेदन शुल्क ₹250 है  इसके अतिरिक्त अन्य वर्गों के उम्मीदवारों के लिए आवेदन शुल्क ₹500 हैं ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड का उपयोग करके आवेदन शुल्क का भुगतान कर सकते हैं.

आवेदन के पश्चात एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा जिसमें परीक्षा की तिथि, स्थान, और समय आदि का विवरण होता है SSC की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर परीक्षा से पूर्व ही ऐडमिट कार्ड को डाउनलोड करना होगा.

स्टेनोग्राफर का परीक्षा पैटर्न

स्टेनोग्राफर बनने के लिए SSC द्वारा तीन चरणों में परीक्षाएं आयोजित की जाती है जिन्हें पास करके आप अपना सपना पूरा कर सकते हैं यह परीक्षा हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में कराई जाती है.

सीबीटी एग्जाम

स्टेनोग्राफर बनने के लिए प्रथम चरण में कंप्यूटर आधारित परीक्षा कराई जाती है इसमें दो पेपर होते हैं प्रत्येक पेपर के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है प्रथम प्रश्नपत्र जिसमें सामान्य जागरूकता के प्रश्न पूछे जाते है 1 से 50 प्रश्न पूछे जाते हैं जिनके लिए 100 अंक निर्धारित किए गए हैं द्वितीय प्रश्नपत्र हिंदी या अंग्रेजी भाषा से संबंधित होता है जिसमें 51 से 100 प्रश्न पूछे जाते हैं यह प्रश्नपत्र भी 100 अंकों का होता है.

स्टेनोग्राफी टेस्ट/आशुलिपि परीक्षण

स्टेनोग्राफर बनने के लिए दूसरे चरण में SSC द्वारा स्टेनोग्राफी टेस्ट परीक्षा ली जाती है यह परीक्षा हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होती है आप अपने हिसाब से भाषा का चयन कर सकते हैं यह परीक्षा भी ऑनलाइन माध्यम से कराई जाती है इस परीक्षा में उम्मीदवार की टाइपिंग स्पीड का परीक्षण किया जाता है शॉर्टहैंड स्पीड 80 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए.

डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन और मेडिकल टेस्ट

स्टेनोग्राफी टेस्ट के बाद उम्मीदवार को डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता है जिसमें उम्मीदवार के सभी प्रकार के कागजातों की और प्रमाण पत्रों की जांच की जाती है कि कहीं वे जाली तो नहीं है इसके बाद उम्मीदवार का मेडिकल परीक्षण किया जाता है शारीरिक रूप से स्वस्थ होने पर उम्मीदवारों को पास कर दिया  जाता है.

इसके बाद मेरिट लिस्ट जारी की जाती है जारी की गई मेरिट लिस्ट में यदि आपका नाम है तो आपको जूनियर स्टेनोग्राफर के पद पर नियुक्त कर दिया जाएगा.

स्टेनोग्राफर के पद हेतु एसएससी द्वारा निर्धारित सिलेबस

जर्नल इंटेलिजेंस और रीज़निंग का सिलेबस

  • रिलेशनशिप, एरिथमेटिक कम्प्यूटेशन, एनालिटिकल फंक्शन ऑफ एब्सट्रैक्ट आइडिया औरसिंबल
  • ऐब्स्ट्रैक्ट आइडिया और सिंबल
  • नॉन वर्बल सीरीज
  • एरिथमेटिक नंबर सीरीज
  • वर्बल और फिगर क्लासिफिकेशन
  • एरिथमेटिकरीज़निंग
  • रिलेशनशिप कॉन्सेप्ट
  • डिस्क्रिमिनेटिंग ऑब्जर्वेशन
  • विज़ुअल मेमोरी
  • डिसीज़न मेकिंग
  • जजमेंट
  • एनालिसिस
  • प्रॉब्लम सॉल्विंग
  • स्पेस विजुअलाइजेशन
  • सिमिलरटीज और डिफरेंस
  • एनालॉजिस

सामान्य जागरूकता का सिलेबस

  • विज्ञान और तकनीक
  • पुस्तकें और लेखक
  • भारतीय पड़ोसी देश के खेल
  • डे एंड इवेंट
  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्त्व के कार्यक्रम और मामले
  • सरकारी नीतियां और योजनाएं
  • देश मुद्रा और राजधानियाँ
  • भारतीय अर्थव्यवस्था
  • पुरस्कार और सम्मान
  • भारत और विश्व अर्थशास्त्र के दृश्य
  • कला और संस्कृति
  • भारतीय संविधान और वैज्ञानिक अनुसंधान
  • भारतीय राज्यव्यवस्था
  • भारतीय इतिहास- भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन,मुगल साम्राज्य आदि
  • भारतीय भूगोल- भारत में मिट्टी, भारतीय फसलें, भारत में खेती और सिंचाई, भारतीय नदियाँ आदि.

अंग्रेजी भाषा और कंप्रेशन का सिलेबस

  • कॉम्प्रिहेंशन रीडिंग
  • फ्रेस रिप्लेसमेंट
  • पैराजंबल्स
  • एंटोनिम्स और सिनॉनिम्स
  • स्पोर्टिंग एरर
  • फ्रेसेस और एडम्स
  • स्पेलिंग
  • सेंटेंस करेक्शन
  • फ़िल इन द ब्लैंक्स
  • क्लोज़ टेस्ट
  • डायरेक्ट और इनडायरेक्ट
  • ऐक्टिव और पैसिव वाइस
  • आर्टिकल
  • बेसिक इंग्लिश ग्रामर और सेंटेंस स्ट्रक्चर
  • पार्ट ऑफ स्पीच- नाउन, प्रोनाउन, वर्ब, प्रीपोजिशन, कंजेक्शन इत्यादि.

स्टेनोग्राफर की सैलरी

किसी भी जॉब को ज्वॉइन करने से पहले उम्मीदवार को मिलने वाली सैलरी के बारे में जानने की जिज्ञासा होती है हम आपको बता दें कि स्टेनोग्राफर ग्रेड सी के लिए ₹51,000 प्रतिमाह वेतन दिया जाता है और स्टेनोग्राफर ग्रेड डी के लिए ₹36,000 प्रतिमाह वेतन दिया जाता है समय और अनुभव के साथ सैलरी बढ़ भी सकती है.

उम्मीद है कि आपको आज का हमारा  लेख “SSC स्टेनोग्राफर कैसे बने?” पसंद आया होगा यदि आपको ऐसे ही किसी और विषय के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment