ग्रेजुएशन क्या होता है: लाभ एवं सम्पूर्ण जानकारी

अक्सर विद्यार्थियों के मन में प्रश्न आता है कि बारहवीं के बाद ग्रैजुएशन करें या नहींतोआज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको ग्रैजुएशन करने के लाभ, ग्रैजुएशन लिए क्या योग्यता होती है और ग्रैजुएशन के बाद जॉब प्रोफाइल जैसी सभी जानकारियां प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंतर तक जरूर पढ़ें.

graduation kya hota hai
graduation kya hota hai

ग्रैजुएशन क्या होता है?

ग्रैजुएशन, डिप्लोमा या 12वीं के बाद किए जाने वाला 3 साल का डिग्री कोर्स होता है कुछ ग्रैजुएशन कोर्स 4-5 साल की अवधि के भी होते है इसे बैचलर डिग्री, अंडर ग्रैजुएट कोर्स और स्नातक भी कहते हैं आप बैचलर की डिग्री आर्ट्स,कॉमर्स या साइंस स्ट्रीम में कर सकते हैं इसके अलावां आजकल अन्य विषय जैसे कि मैनेजमेंट, मीडिया, इंजीनियरिंग,मेडिकल व अन्य विशेष विषय में भी डिग्री कोर्स होते है

यदि आप बारहवीं के बाद ग्रैजुएशन कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए कुछ कॉलेजों में डायरेक्ट एडमिशन हो जाता है किंतु कुछ कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती है जिसके पश्चात मेरिट लिस्ट के आधार पर कैंडिडेट का चयन किया जाता है यह आपके द्वारा चुने गए कॉलेज पर डिपेंड करता है ग्रेजुएशन करने के बाद आप अच्छी खासी सैलरी वाली जॉब कर सकते हैंऔर पैसे कमा सकते हैं.

MSW कोर्स क्या होता है

ग्रैजुएशन में ऐडमिशन के लिए योग्यता

ग्रैजुएशन में एडमिशन लेने के लिए कैंडिडेट के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए-

शैक्षिक योग्यता

किसी भी ग्रैजुएशन कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार को बारहवीं उत्तीर्ण करनी होगी जिसमे न्यूनतम 50% अंक होने चाहिए ग्रैजुएशन में एडमिशन के लिए कुछ कॉलेजों द्वारा प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जिसे उत्तीर्ण करना होगा.

उम्रसीमा

कोई भी ग्रैजुएशन कोर्स करने के लिए कैंडिडेट की न्यूनतम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए यदि आपकी उम्र 17 वर्षों से कम है तो आप ग्रैजुएशन में एडमिशन नहीं ले सकेंगे.

इसी के साथ ग्रैजुएशन में एडमिशन लेने के लिए कैंडिडेट भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए और साथ ही वह पूर्णतः स्वस्थ होना चाहिए.

ग्रैजुएशन करने के लाभ

  • ग्रैजुएशन की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप एक शिक्षित और ज्ञानी व्यक्तियों की लिस्ट में आ जाते हैं.
  • ग्रैजुएशन करनेकेबाद आप किसी भी फॉर्म को भरने के योग्य हो जाते हैं.
  • ग्रैजुएशन करने के बाद आप पोस्ट ग्रैजुएशन कर सकते हैं और उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं.
  • ग्रैजुएशन में आप अपनी रुचि के हिसाब से कोर्स का चुनाव करके शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं और एक अच्छी जॉब प्राप्त कर सकते हैं.
  • यदि आप ग्रैजुएशन कंप्लीट कर लेते हैं तो आपको जॉब मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती है.
  • ग्रैजुएट कैंडिडेट्स को अन्य नागरिको की अपेक्षा ज्यादा हाई सैलरी वाली जॉब मिलती है.
  • आप जिसफील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं उससे संबंधित ग्रैजुएशन कोर्स कर सकते हैं.
  • ग्रैजुएशन करने से विद्यार्थी में आत्मविश्वास, ज्ञान और कौशल की वृद्धि होती है.
  • ग्रैजुएशन करने के बाद आप भारत के अलावा विदेशों में भी जॉब प्राप्त कर सकते हैं.
  • ग्रैजुएशन करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में जॉब प्राप्त कर सकते हैं.
  • अधिकतर गवर्नमेंट जॉब के लिए शैक्षिक योग्यता ग्रेजुएशन मांगी जाती है ग्रैजुएशन करने के बाद आप सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • ग्रैजुएशन करने से समाज में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ती है लोग आपसे इज्जत से बात करतेहैं.

ग्रैजुएशन के अंतर्गत आने वाले कोर्स

  • बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज़
  • बैचलर ऑफ मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिस्ट मैनेजमेंट
  • बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन
  • बैचलर ऑफ हेल्थकेयर
  • बैचलर ऑफ फार्मेसी
  • बैचलर ऑफ टूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन
  • बैचलर ऑफ बिज़नेस मैनेजमेंट
  • बैचलर ऑफ मास मीडिया
  • बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट
  • बैचलर ऑफ आर्ट्स
  • बैचलर ऑफ कॉमर्स
  • बैचलर ऑफ साइंस
  • बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • बैचलर ऑफ लॉ
  • बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी
  • बैचलर ऑफ कंप्यूटरसाइंस
  • बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी
  • बैचलर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन
  • बैचलर ऑफ साइंस इन ऐग्रिकल्चर
  • बैचलर ऑफ एजुकेशन
  • बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी
  • बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग

ग्रैजुएशन में कितने सब्जेक्ट होते हैं

यदि बारहवीं कक्षा के बाद आप ग्रैजुएशन करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले कोर्स सेलेक्ट करना होगा प्रत्येक कोर्स के हिसाब से उसमें पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट अलग अलग होते हैं आमतौर पर ग्रेजुएशन कोर्स में 3-6 सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैंपढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट आपके द्वारा चुने गए कोर्स पर निर्भर करते हैं.

B.Ed करने के फायदे

भारत में ग्रैजुएशन के लिए टॉप कॉलेज

  • वेल्लोर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी
  • सावित्री बाई फुले पुणे विश्वविद्यालय,पुणे
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी,अलीगढ़
  • कलकत्ता विश्वविद्यालय, कोलकाता
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नई दिल्ली
  • भारतीय विज्ञान संस्थान,बेंगलुरु
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास, चेन्नई

ग्रैजुएशन के बादकिये जाने वाले कोर्स

  • पीजी डिप्लोमा इन बिज़नेस एनालिटिक्स
  • मास्टर ऑफ आर्ट्स
  • मास्टर ऑफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन
  • मास्टर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • पीजीडी इन होटल मैनेजमेंट
  • मास्टर ऑफ कॉमर्स
  • मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी
  • प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्स
  • डिजिटल मार्केटिंग कोर्स
  • मास्टर ऑफ साइंस
  • पीजीडी इन मैनेजमेंट
  • मास्टर्स इन मशीन लर्निंग
  • डेटासाइंस कोर्स

बीए करने के बाद जॉब प्रोफाइल

यदि अपने ग्रैजुएशन के तौर पर बीए की डिग्री प्राप्त की है तो आपके पास बहुत सारी जॉब अपॉर्चुनिटीज उपलब्ध होती है जो कि निम्नलिखित है-

  • टीचर
  • स्टेनोग्राफर
  • क्लर्क
  • बैंक पीओ
  • रिसर्चर
  • इनकम टैक्स ऑफिसर
  • आईएएस ऑफिसर
  • आईपीएस ऑफिसर
  • आईएफएस ऑफिसर
  • इंडियन फॉरेस्ट सर्विस ऑफिसर
  • आरबीआईऑफिसर
  • टिकट कलेक्टर
  • लोकोपायलट
  • राइटर
  • जर्नलिस्ट
  • एसबीआई क्लर्क
  • आरबीआई कार्यालय सहायक
  • वेबडेवलपर
  • संचार अधिकारी
  • सामाजिक कार्यकर्ता
  • राजनेता
  • सहायक प्रबंधक
  • बैंकिंग अधिकारी
  • पुलिस

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का लेख “ग्रैजुएशन क्या होता है: लाभ एवं संपूर्ण जानकारी” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment