GNM क्या होता है: योग्यता, फीस, सिलेबस, बेस्ट कॉलेज और सैलरी

आज के समय में हर व्यक्ति अपना करियर एक अच्छे मुकाम पर बनना चाहता है अन्य क्षेत्रों के साथ ही मेडिकल क्षेत्र में भी तरक्की हुई है जहाँ काफी अच्छी जॉब अपॉर्चुनिटी उपलब्ध हैं यदि आप मेडिकल और नर्सिंग में अपना करियर बनाना चाहते तो आपके लिए GNM कोर्स अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है यदि आपको इस संबंध में जानकारी नहीं है तो आज के आर्टिकल के माध्यम से हम आपको GNM कोर्स के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढें.

gnm kya hai in hindi
gnm kya hai in hindi

GNM का फुल फॉर्म क्या है?

जीएनएम का पूरा नाम General Nursing and Midwifery है इसको करने के बाद आप नर्सिंग क्षेत्र में पारंगत हो जाते हैं.

GNM कोर्स की अवधि

जीएनएम कोर्स की अवधि 3.5 वर्ष की होती है जिसके बाद 1 साल की इंटर्नशिप भी पूरी करनी होती है जिसमे स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल और रियल नॉलेज दिया जाता है.

GNM कोर्स क्या है?

जीएनएम एक तरह से नर्सिंग Diploma Course होता है जिसके लिए 12वीं साइंस स्ट्रीम से पास करनी होगी जीएनएम का कोर्स 3 वर्ष का होता है इस कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थियों को नर्सिंग से जुड़े हुए सभी तरह के कार्यों की ट्रेनिंग दी जाती है जैसे कि मरीज की देखरेख करना, डॉक्टर की मदद करना,इलाज के दौरान होने वाले सभी तरह के कार्यों, कार्य के साथ टीकाकरण, गर्भवती महिलाओ की देख रेख करना और उनकी अकॉउंटिंग करना, उन्हें टीका लगाना. यह कोर्स महिला और पुरुष दोनों ही करते हैं परंतु ज्यादातर यह डिप्लोमा महिलाओं द्वारा किया जाता है 3.5 वर्ष के पश्चात आपको 1 साल की इंटर्नशिप भी पूरी करनी होती है यह बहुत अच्छा नर्सिंग कोर्स है जिसे करने के पश्चात आपके लिए नौकरी के अवसर बढ़ जाते है जब आप अपना GNM का कोर्सपूरा कर लेते है तो आपकोमेडिकल क्षेत्र मे नर्स का काम मिलता है.

PhD करने के फायदे: योग्यता, फीस, नौकरी और सैलरी

GNM कोर्स करने के लाभ

  • जीएनएम कोर्स करने के बाद आपमें सेवा की भावना विकसित होती है.
  • जीएनएम कोर्स करके आप स्वास्थ्य सेवाओं में करियर बना सकते हैं.
  • मेडिकल क्षेत्र में रोजगार अवसर प्राप्त होते हैं.
  • जागरूकता कार्यक्रम ओर कैंपेन के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाती है.
  • जीएनएम कोर्स करने के बाद विद्यार्थी की कम्यूनिकेशन स्किल्स में सुधार आता है.
  • जीएनएम कोर्स को करने के बाद आप नर्सिंग क्षेत्र में पारंगत हो जाते हैं.
  • शैक्षिक और व्यावसायिक विकास को बढ़ावा मिलता है.
  • प्राइवेट और सरकारी क्षेत्र में नर्स की नौकरी सरलता से प्राप्त हो जाती है.
  • जीएनएम कोर्स करके आप विदेशों में भी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं.
  • जीएनएम कोर्स करके आप अच्छी खासी सैलरी वाली जॉब प्राप्त कर सकते हैं और अपना करियर बना सकते हैं.
  • GNM कोर्स करने के बाद मेडिकल क्षेत्र में आप के लिए बहुत सारी जॉब अपॉर्चुनिटी उपलब्ध होती है.
  • सिर्फ 3 साल का कोर्स करके आप मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं.
  • GNM कोर्स में आपको स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना, दवाइयां देने और मरीजों की देखभाल करने जैसे कार्य सिखाये जाते हैं.
  • जिसके बाद आपको कार्य के बदले वेतन भी दिया जाता है नर्स के रूप में सेवा प्रदान करके आपको संतुष्टी का अनुभव होता है और साथ ही यह कार्य प्रशंसा वाला है.

GNM कोर्स में एडमिशन के लिए योग्यता

जीएनएम कोर्स में एडमिशन के लिए आपको निम्नलिखित पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा.

शैक्षणिक योग्यता

जीएनएम कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों को साइंस स्ट्रीम में 50% अंकों के साथ बारहवीं उत्तीर्ण करनी होगी और साथ ही कम्यूनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए इसके अलावा उम्मीदवार को अंग्रेजी भाषा का ज्ञान होना चाहिए कुछ शिक्षण संस्थानों में जीएनएम कोर्स में एडमिशनलेने के लिए प्रवेश परीक्षाएं पास करनी होती है.

उम्रसीमा

जीएनएम कोर्स में एडमिशन के लिए विद्यार्थी की न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए और स्टूडेंट भारत का निवासी होना चाहिए स्टूडेंट मानसिक और शारीरिक रूप से सवस्थ होना चाहिए.

अन्य योग्यताएं

जीएनएम कोर्स में एडमिशन के लिए उम्मीदवार शारीरिक रूप से पूर्णतः स्वस्थ होना चाहिए उम्मीदवार भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए उम्मीदवार में प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल होनी चाहिए और साथ ही तुरंत निर्णय लेने की क्षमता होनी चाहिए.

GNM कोर्स की फीस

जीएनएम कोर्स की फीस आपके द्वारा चुने हुए कॉलेज पर निर्भर करती है यदि आप सरकारी कॉलेज से जीएनएम कोर्स करेंगे तो आपकी फीस ₹30,000 से ₹50,000 प्रतिवर्ष तक हो सकती है वहीं प्राइवेट कॉलेज में आपको ₹1,00,000 से ₹10,00,000 प्रतिवर्ष फीस देनी पड़ती है सरकारी कॉलेज की अपेक्षा प्राइवेट कॉलेजों में फीस ज्यादा पड़ती है ये सभी आंकड़े अनुमानित हैं फीस कितनी पड़ेगी ये तो आपको आपके द्वारा चुने गए कॉलेज जाकर ही पता चलेगा जो बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं उन्हें सरकार द्वारा छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है जिससे उनकी फीस का खर्चा कम हो सके आप भी छात्रवृत्ति का लाभ उठा सकते हैं.

बैंक मैनेजर कैसे बने?

GNM कोर्स का सिलेबस

जीएनएम कोर्स 3.5 साल का होता है जिसका सेलेब्स निम्नलिखित हैं

प्रथम वर्ष

  • कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • इंग्लिश
  • हेल्थ एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन स्किल्स
  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग l- प्रैक्टिकल
  • एनवायरनमेंट हाइजीन
  • कमिटी हेल्थ नर्सिंग-l
  • नर्सिंग फाउंडेशन- प्रैक्टिकल
  • फर्स्ट ऐड
  • फंडामेंटल्स ऑफ नर्सिंग
  • सोशियोलॉजी
  • साइकोलॉजी
  • माइक्रोबायोलॉजी
  • एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी

द्वितीय वर्ष

  • चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग
  • मेंटल हेल्थ नर्सिंग
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग-l
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग-ll

तृतीय वर्ष

  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग-ll
  • मिडवाइफरी एंड गायनोलॉजिकल नर्सिंग प्रैक्टिकल
  • गायनोलॉजिकल नर्सिंग
  • मिडवाइफरी
  • अनुसंधान और सांख्यिकी का परिचय
  • नर्सिंग प्रशासन और वार्ड प्रबंधन
  • व्यावसायिक रुझान और समायोजन
  • सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग

GNM कोर्स के लिए टॉप कॉलेज

  • इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, चेन्नई
  • गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, चंडीगढ़
  • सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर
  • पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, चंडीगढ़
  • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ पीएचडी इन मेडिकल साइंसेज,मुंबई
  • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, नई दिल्ली
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय, अलीगढ़
  • लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली
  • एलनार रॉयल कॉलेज ऑफ नर्सींग, जयपुर
  • एलीगर नर्सिंग कॉलेज,कोटा
  • अखिल भारतीय आयुर्विग्यान संस्थान, नई दिल्ली
  • राम मनोहर लोहिया अस्पताल, नई दिल्ली
  • शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा, उत्तर प्रदेश
  • राजीव गाँधी कॉलेज ऑफ नर्सिंग, बैंगलोर
  • राष्ट्रीय नर्सिंग शिक्षा संस्थान, चंडीगढ़
  • क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज,वेल्लोर
  • इन्दिरा गाँधी आयुर्विग्यान संस्थान, पटना
  • राष्ट्रीय नर्सिंग शिक्षा संस्थान, चंडीगढ़

GNM कोर्स करने के बाद सैलरी

किसी भी कोर्स को करके जॉब करने से पहले व्यक्ति के मन में उससे मिलने वाले वेतन के बारे में जानने की जिज्ञासा जरूर होती है तो हम आपको बता दें कि जीएनएम कोर्स करने के बाद आपकी सैलरी स्थान, अनुभव, सरकारी या निजी सेक्टर में नौकरी आदि सभी बातों पर निर्भर करती है जीएनएम कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट सेक्टर में नौकरी करने पर शुरुआत मेंआपको ₹20,000 से लेकर ₹30,000 तक प्रतिमाह वेतन मिल सकता है इसके बाद कुछ समय पश्चात आपका अनुभव बढ़ने परसरकारी सेक्टर में आपको ₹50,000 से लेकर ₹70,000 तक सैलरी प्रदान की जा सकती है.

जीएनएम कोर्स के बाद प्राइवेट सेक्टर में ₹10,000 से लेकर ₹15,000 तक महीने सैलरी मिलती है समय और अनुभव बढ़ने के साथ ही सैलरी में भी इजाफा किया जाता है.

बैंक कैशियर कैसे बने?

जीएनएम कोर्स के बाद सरकारी नौकरी कैसे प्राप्त करें

  • स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा द्वारा
  • लोक सेवा आयोग द्वारा
  • नौकरी पोर्टल द्वारा
  • वॉक-इन इंटरव्यू द्वारा
  • बांडेड सर्विस द्वारा

GNM कोर्स के बाद जॉब क्षेत्र

  • सरकारी अस्पताल
  • निजीअस्पताल
  • नर्सिंगहोम
  • स्वास्थ्य केंद्र
  • गर्भावस्था केंद्र
  • स्वास्थ्य मंत्रालय

GNM कोर्स के बाद जॉब प्रोफाइल

  • दाई
  • कम्युनिटी हेल्थ वर्कर
  • सैन्य नर्स
  • होम नर्स
  • जनसंचार कर्मी
  • स्वास्थ्य कार्यकर्ता
  • अस्पताल नर्स
  • स्कूल की नर्स
  • आईसीयू नर्स
  • ग्रामीण स्वास्थ्य सेविका
  • प्रमाणित नर्सिंग सहायक
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में कार्यकर्ता
  • आरोग्य शिविर कार्यकर्ता
  • स्वास्थ्य शिक्षक
  • नर्सिंग पर्यवेक्षक
  • नर्सिंग प्रशिक्षण

GNM कोर्स के बाद किये जाने वाले कोर्स

  • पीएचडी इन नर्सिंग
  • एमएससी नर्सिंग
  • पोस्ट बेसिक बीएससी इन नर्सिंग
  • डिप्लोमा इन फार्मेसी
  • नर्सिंग में डॉक्टरेट डिग्री
  • बीएसई ऑनर्स इन नर्सिंग
  • इंटर्नशिप

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का लेख “GNM कोर्स क्या होता है: योग्यता, फीस, सिलेबस, बेस्ट कॉलेज और सैलरी” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment