B.Ed करने के फायदे: योग्यता, नौकरी, फीस, और सैलरी

आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति अपना करियर एक अच्छे मुकाम पर बनाना चाहता हैकई सारे ऐसे विभाग हैं जो स्टूडेंट्स को जॉब उपलब्ध कराते हैं उन्हीं में से एक शिक्षा विभाग भी है यदि आप शिक्षा के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं और एक टीचर बनना चाहते हैं तो आप बीएड कोर्स कर सकते हैं यदि आपको बीएड कोर्स से संबंधित ज्यादा ज्ञान नहीं है तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बीएड कोर्स के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

B.Ed Karne Ke Fayde
B.Ed Karne Ke Fayde

बीएड का फुल फॉर्म क्या होता है

बीएड का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ एजुकेशन होता है यह एक प्रकार की अंडरग्रेजुएट डिग्री होती है

बीएड कोर्स की अवधि

यदि आप बारहवीं के बाद डायरेक्ट बीएड करना चाहते हैं तो आपको 5 साल का समय लगेगा किंतु यदि आप बैचलर डिग्री प्राप्त करने के बाद बीएड कोर्स करेंगे तो आपको 2 साल का समय लगेगा.

PGDCA Syllabus in Hindi

बीएड क्या होता है

बीएड यानी बैचलर ऑफ एजुकेशन कोर्स उन विद्यार्थियों के लिए होता है जो टीचिंग लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैंइस कोर्स में टीचर बनने के लिए आवश्यक स्किल डेवलप करना व्यावहारिक कौर सिद्धांतिक ज्ञान प्रदान करना तथा बच्चों में शैक्षिक आध्यात्मिक और मानसिक विकास से संबंधित ज्ञान प्रदान किया जाता है बीएड एक प्रकार से टीचर ट्रेनिंग कोर्स होता है इस कोर्स को करके आप उच्च कोटि के शिक्षक बन सकते हैं जिसके बाद आप प्राइवेट और सरकारी दोनों सेक्टर में काम कर सकते हैं.

बीएड करने के लाभ

  • बीएड कोर्स करके आप उच्च कोटि के टीचर बन सकते हैं.
  • बीएड कोर्स करने के बाद आपको प्राइवेट और सरकारी दोनों सेक्टर में जॉब मिल सकती है.
  • बीएड कोर्स में सैद्धांतिक और व्यवहारिक ज्ञान प्रदान किया जाता है जिससे आपको उच्च कोटि के ज्ञान की प्राप्ति होती है.
  • एक टीचर के रूप में आप बच्चों के आध्यात्मिक, शारीरिक, मानसिक और शैक्षिक विकास में योगदान दे सकते हैं.
  • समाज और बच्चों की शिक्षा के विकास में योगदान दे सकते हैं शोध कार्य भी कर सकते हैं.
  • बच्चों को ट्यूशन पढ़ा सकते है या फिर किसी प्राइवेट स्कूल में भी टीचर के तौर पर काम कर सकते हैं.
  • आपकी कम्यूनिकेशन स्किल अच्छी होती है आप एक अच्छे वक्ता बन सकते हैं.
  • बच्चों को शैक्षिक ज्ञान के साथ ही नैतिक ज्ञान भी प्रदान कर सकते हैं.
  • बीएड कोर्स करकेटेट, सीटेट, एलटी जैसी परीक्षाओं में भाग लेकर आप सरकारी टीचर भी बन सकते हैं.
  • सरकारी कॉलेजों में एडमिशन मिलने पर बीएड कोर्स के तहत ₹10,000 तक स्कॉलरशिप भी दी जाती है.
  • प्राइवेट कॉलेजों में भी स्कॉलरशिप दी जाती है जोकि 30,000 से ₹33,000 तक हो सकती है.

बीएड कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • गुरु नानक कॉलेज ऑफ एजुकेशन, नई दिल्ली
  • जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • कमल इंस्टीट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड एडवांस टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  • एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन, नई दिल्ली
  • लोरेटो कॉलेज, कोलकाता
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, यूपी
  • सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ राजस्थान, राजस्थान
  • यूपी राजर्षि टंडन मुक्त यूनिवर्सिटी, यूपी
  • सेंटर फॉर डिस्टेंस एंड ओपन लर्निंग, जामिया मिलिया इस्लामिया
  • कर्नाटक राज्य मुक्त यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हिंदी यूनिवर्सिटी.

बीएड के लिए योग्यता

बीएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिये उम्मीदवार को कॉलेजों द्वारा निर्धारित सभी पात्रता मापदंडों को पूरा करना होगा जोकि निम्नलिखित है-

शैक्षणिक योग्यता

  • बीएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिए विद्यार्थियों को सबसे पहले बारहवीं पास करनी होगी.
  • बारहवीं के बाद बीएड में एडमिशन मिल जाता है जिसके बाद 5 साल का बीएड कोर्स करना पड़ता है.
  • यदि आपको 2 साल का बीएड कोर्स करना है तो आपके पास ग्रैजुएशन की डिग्री होनी चाहिए.
  • ग्रैजुएशन में 50% से ज्यादा अंक होने चाहिए.
  • यदि आपका एडमिशन प्रवेश परीक्षा के आधार पर हो तो प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी.

उम्रसीमा

बीएड कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उम्मीदवार की आयु 21 वर्ष से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए लेकिन सभी कॉलेज की अपनी पात्रताएं होती है तो आपको एडमिशन लेने से पहले अपने चयनित कॉलेज कीपात्रताओं के बारे में जरूर जान लेना चाहिए.

आवश्यक स्किल्स

  • कम्युनिकेशन स्किल्स
  • टीचिंग स्किल्स
  • टाइम मैनेजमेंट
  • क्रिटिकल थिंकिंग स्किल्स
  • टाइम मैनेजमेंट स्किल्स
  • टीम वर्क की क्षमता
  • नेतृत्व कौशल

बीएड में स्पेशलाइजेशन

आप B.ed कोर्स में निम्नलिखित सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं

  • Bed हिंदी
  • Bed स्पेशल एजुकेशन
  • Bed इंग्लिश
  • Bed कंप्यूटर साइंस
  • Bed संस्कृत
  • Bed कॉमर्स
  • Bed साइकोलॉजी
  • Bed मैथमेटिक्स
  • Bed इकोनॉमिक्स
  • Bed फिजिकल एजुकेशन
  • Bed फिजिकल साइंस
  • Bed Home Science
  • Bed फिजिक्स
  • Bed हिस्ट्री
  • Bed सोशल साइंस
  • Bed तमिल
  • Bed केमिस्ट्री
  • Bed मलयालम
  • Bed पोलिटिकल साइंस
  • Bed जियोग्राफी
  • Bed नेचुरल साइंस
  • Bed हियरिंग इम्पेयर्ड

उपर्युक्त दिए हुए सब्जेक्ट में से आप किसी भी दो सब्जेक्ट में बीएड में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं क्योंकि बीएड कोर्स में आपको सिर्फ दो ही सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं जिनका चुनाव आपको करना होता है चुने हुए सब्जेक्ट में आपको गहन अध्ययन करना होता है जिसके बाद आप उस सब्जेक्ट के ज्ञाता बन जाते हैं और एक उच्च कोटि के शिक्षक बन जाते हैं कोर्स करने के बाद इंटर्नशिप भी करनी होती है जिससे आपको प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त होता है.

NEET की तैयारी कब से शुरू करे

बीएड कोर्स की फीस

किसी भी कोर्स की फीस गवर्मेंट और प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटीज में अलग-अलग होती है भारत में बैचलर ऑफ एजुकेशन की फीस सरकारी कॉलेजों में सालाना 15,000 हजार रुपये से 60,000 हजा ररुपये तक होती है प्राइवेट कॉलेजों में बीएड की फीस सालाना  40,000 हजाररुपयेसे 80,000 हजार रुपये तक होती है.

बीएड कोर्स के बाद जॉब प्रोफाइल

  • कॉन्टैक्ट राइटर
  • स्कूल प्रबंधक
  • टीचर
  • प्रिंसिपल
  • एकेडमिक काउंसलर
  • ऑनलाइन ट्यूटर
  • शिक्षा पाठ्यक्रम डिजाइनर
  • एजुकेशन कंसल्टेंट

बीएड करने के बाद क्या करे

  • बीएड करने के बाद आप एक टीचर के रूप में स्कूलों कॉलेजों में से पढ़ा सकते है.
  • बीएड कोर्स करने के बाद आप विद्यालय में प्रबंधक या प्रिंसिपल के रूप में भी जॉब कर सकते हैं.
  • शिक्षा प्रौद्योगिकी कंपनियों में याशिक्षा संगठनों में भी अपना करियर बना सकते हैं.
  • शिक्षा अनुसंधानमें काम कर सकते हैं शिक्षा सलाहकार के रूप में बच्चों के अभिभावकों को परामर्श दे सकते हैं.
  • बीएड की पढ़ाई के बाद आप आगे भी उच्च ज्ञान प्राप्त करने के लिए पढ़ाई जारी रख सकते.

बीएड के बाद सैलरी

किसी भी कोर्स या जॉब को करने से पहले व्यक्ति के मन में उससे मिलने वाले वेतन के बारे में जानने की जिज्ञासा होती है तो हम आपको बता दें कि बीएड कोर्स करने के बाद यदि आप किसी शिक्षक के रूप में जॉब करते हैं तो आपको ₹40,000 से लेकर ₹50,000 प्रतिमाह तक सैलरी मिल सकती है अनुभव और ज्ञान बढ़ने के साथ ही आपकी सैलरी में भी इजाफा किया जाएगा.

फाइनेंस मैनेजर कैसे बने?

आशा है कि आपको आज हमारा आर्टिकल “बीएड करने के फायदे, योग्यता,नौकरी,फीस और सैलरी” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment