रिजाइन लेटर (त्यागपत्र) कैसे लिखें? | रिजाइन लेटर क्या होता हैं?

यदि आप एक कर्मचारी हैं और किसी कंपनी या ऑफिस में कार्य करते हैं तो आपको यह जानना बहुत ही आवश्यक है की रिजाइन लेटर (त्यागपत्र) कैसे लिखते हैं क्योंकि कभी कभी आपको न चाहते हुए भी परिस्थितियों के कारण अपने कार्य यापद से इस्तीफा देना पड़ सकता है इसलिए हम आपको रिजाइन लेटर (त्यागपत्र) लिखने से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां आज के इस आर्टिकल के माध्यम से प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

रिजाइन लेटर क्या होता हैं?

रिजाइन लेटर को इस्तीफ़ा और त्यागपत्र भी कहते हैं रिजाइन लेटर की आवश्यकता हमें तब पड़ती है जब हम किसी ऑफिस या कंपनी में कार्यरत होते हैं और हमें किसी कारणवश नौकरी छोड़ने के लिए कंपनी के मालिक को सूचना देनी पड़ती है यह एक प्रकार से नौकरी छोड़ने के लिए आवेदन होता है ऑफिस में कार्य न कर पाने की लिखित रूप में जानकारी देकर आप अपने कार्य या पद से इस्तीफा दे सकते हैं किंतु आपको त्याग पत्र लिखते समय सदैव ही उचित शब्दों का प्रयोग करना चाहिए.

Resign Letter Format in Hindi
Resign Letter Format in Hindi

रिजाइन देने के आपके पर्सनल और प्रोफेशनल कारण हो सकते हैं मान लीजिए आपको किसी अन्य कंपनी में नौकरी मिल गई है जहाँ आपको इससे ज्यादा सैलरी प्रदान की जा रही तो आप इस स्थिति में रिजाइन देना चाहे तो दे सकते हैं इसके अलावा आपकी और आपके परिवार की स्वास्थ्य हेल्थ इशूज के कारण यदि आप चाहें तो रिजाइन दे सकते हैं यदि कार्यरत कंपनी में आपकी किसी भी प्रकार की मानहानि हुई है या आपको यहाँ कार्य करने का मन नहीं है तो आप इस स्थिति में भी इस्तीफा दे सकते हैं इसके अलावा भी आपके अपने पर्सनल कारण हो सकते हैं जिसके कारण आप इस्तीफा दे सकते हैं.

इस्तीफ़ा देने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें

  • त्यागपत्र लिखते समय आपको उचित शब्दों का प्रयोग करना चाहिए जिससे कंपनी से आपके संबंध खराब न होऔर कंपनी की रेपुटेशनबनी रहे.
  • लिखित रूप में त्यागपत्र देने से पहले आपको अपने बॉस से एक बार आमने सामने मौखिक रूप से बात कर लेनी चाहिए.
  • त्यागपत्र लिखते समय आपको मौखिक वार्तालाप का उल्लेख करना होगा.
  • त्यागपत्र में आपको अपने आखिरी काम के दिन के बारे में जरूर लिखना होगा.
  • त्यागपत्र में यह भी उल्लेख करना होगा कि आपने जब से कंपनी ज्वॉइन की है तब से यहाँ क्या क्या सीखा और किस प्रकार कार्य किया.
  • त्याग पत्र में यह भी मेन्शन करना होगा आप अपनी सभी जिम्मेदारियों को किसी भी दूसरे व्यक्ति को देना चाहते है.
  • त्यागपत्र में अपने सहयोगी कर्मचारियों के कार्यो की प्रशंसा करनी होगी जिसे आप अपना कार्यभार सौंपना चाहते हैं.
  • त्यागपत्र लिखने में आपको सरल भाषा और उचित शब्दों का प्रयोग करना चाहिए साथ ही अच्छी सोच के साथ अपना इस्तीफा देना होगा.
  • इस्तीफा देने से पहले आपको इस विषय में सबसे पहले अपने बॉस से बात करनी होगी उन्हें जानकारी देनी होगी उसके बाद ही अपने साथी कर्मचारियों को बताना होगा.
  • त्यागपत्र देने के सभी प्रोटोकोल का पालन करना होगा जिससे कंपनी और बॉस की प्रतिष्ठा पर प्रश्न न उठे.
  • त्यागपत्र देने के पश्चात कभी भी छोड़ी हुई कंपनी की बुराई नहीं करनी चाहिए और कमी लोगों को नहीं बतानी चाहिए.
  • यदि आपको नई कंपनी में ज्यादा सैलरी मिल रही तो अच्छी बात है किंतु पुरानी कंपनी से तुलना नहीं करनी चाहिए.
  • आपकी पुरानी कंपनी की प्रतिष्ठा पर कोई भी आंच नहीं आनी चाहिए इस बात की सभी बातों का ध्यान रखना होगा.

रिजाइन लेटर कैसे लिखें?

सेवा में,

श्रीमान प्रबंधक महोदय,

____(कम्पनी या ऑफिस का नाम)

____शाखा (शहर का नाम)

विषय- नौकरी से इस्तीफा देने हेतु!

महोदय,

सविनय निवेदन है कि मैं____(अपना नाम) आपकी कंपनी ____(कंपनी का नाम) में____(पद का नाम) के पद पर पिछले तीन वर्षों से कार्यरत हूँ मैंने आपकी कंपनी में दिनांक ____को पदभार ग्रहण किया था मेरा चयन अन्य कंपनी ____(कंपनी का नाम) में मैनेजर के पद पर हो गया है _______(कंपनी छोड़ने का कारण).

मैंने इस कंपनी से बहुत कुछ सीखा है और बहुत अनुभव प्राप्त किया है और यही वह चीज़ है जिसे मैं अपने साथ ले जा रहा हूँ मैं आशा करता हूँ की कंपनी शिखर तक पहुंचे.

अतः आपसे नम्र निवेदन है कि मेरा _____(पद का नाम) से इस्तीफा पत्र____(दिनांक) से स्वीकार करने की कृपा करें आपकी बड़ी कृपा होगी.

धन्यवाद!

आपका विश्वासी

____(अपना नाम)

____(पद का नाम)

____(दिनांक)

______(हस्ताक्षर)

Leave a Comment