CTET पास करने के फायदे: CTET क्या होता है? पूरी जानकारी

Ctet pass karne ke fayde: बहुत से लोग अपना करियर शिक्षा के क्षेत्र में बनाना चाहते हैं और एक प्रतिष्ठावान टीचर बनना चाहते हैं जिसके लिए उन्हें CTET की परीक्षा पास करनी जरूरी होती है यदि आपको CTET एग्जाम के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इससे संबंधित सभी जानकारियां प्रदान करेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

ctet pass karne ke fayde

CTET का फुल फॉर्म क्याहै?

CTETका फुल फॉर्म सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट होता है जिसे हिंदी में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते हैं.

CTET परीक्षा क्या है?

जैसा कि आप सभी को पता होगा CTET को सरकार ने अनिवार्य कर दिया है CTET परीक्षा उन विद्यार्थियों के लिए है जो शिक्षक बनने का सपना देखते हैंइस परीक्षा को पास किए बिना आपके शिक्षक बनने का सपना पूरा नहीं हो सकता है CTET परीक्षा की फुल फॉर्म Central Teacher Eligibility Test होता है.

PGDCA Syllabus in Hindi

यह परीक्षा दो स्तरों में आयोजित होती है पहले स्तर की परीक्षा1 से लेकर 5 तक के बच्चों को पढ़ाने के लिए होती है और दूसरी 6 से लेकर 8 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए होती है CTET एग्जाम में 150 प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक प्रश्न 1 नंबर का होता है जिसके लिए 2:30 घंटे का समय निर्धारित  गया है CTET परीक्षा में पास होने के लिए कम से कम 60% अंक होने चाहिए.

CTET एग्जाम CBSE बोर्ड द्वारा देश के हर राज्य में आयोजित होती है और इस एग्जाम को पास करके आप हमारे देश के किसी भी प्राइवेट तथा CBSE बोर्ड के स्कूलों में पढ़ा सकते हैं शिक्षक पात्रता परीक्षा की आवश्यकता इसलिए पड़ती है क्योंकि भारत में अनेक ऐसे संस्थान है जो बिना कक्षा में उपस्थिति के भी डिग्री बांट रहे थे या यूं कहें कि डिग्री बेच रहे थे ऐसे में नियमित विद्यार्थी परेशान हो रहे थे इस व्यवस्था से वह विद्यार्थी भी परेशान हो गए जो नियमित DLD, BTC, Bed आदि अन्य शैक्षणिक योग्यता को पूरा करने के लिए मेहनत रहे थे और इसी के चलते शिक्षक की गुणवत्ता पर भी प्रश्न उठ रहा था इस व्यवस्था पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने वर्ष 2010 से CTETलागू कर दिया.

CTET Exam के लिए योग्यता

CTETकी परीक्षा दो स्तरों में आयोजित की जाती है दोनों स्तर की परीक्षाओं के लिए योग्यतायें निम्नलिखित है-

पेपरI

  • इस पेपर के द्वारा आप कक्षा 1-5वीं तक के teacher बन सकते हैं.
  • पहले पेपर की परीक्षा देने के लिए आपको 12वीं कक्षा कम से कम 60℅ अंकों से पास करनी होती है.
  • 12वीं के साथ-साथ आपको किसी मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से DEd (diploma in education) का कोर्स करना होता है.
  • और इसके साथ ही आपको अच्छे मार्क्स लाना भी जरूरी होता है.

पेपरII

  • इस पेपर के द्वारा आप कक्षा 6 से 8वीं तक के शिक्षक बन सकते हैं.
  • दूसरे पेपर की परीक्षा देने के लिए आपको 12वीं कक्षा किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 60% अंकों के साथ पास करनी होती है.
  • इसके साथ ही आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री 50% अंकों के साथ पास करनी होती है.
  • ग्रेजुएशन के साथ आपको Ed कोर्स करना जरूरी होता है तभी आप दूसरे स्तर की परीक्षा दे सकते हैं.
  • ग्रेजुएशन और Ed करने वाले उम्मीदवारों दोनों स्तर की परीक्षा दे सकते हैं.

उम्रसीमा

CTET का एग्जाम देने के लिए विद्यार्थी की आयु 17 वर्ष से अधिक होनी चाहिए स्टूडेंट भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए साथ ही शारीरिक एवं मानसिक रूप से सवस्थ होना चाहिए.

NEET की तैयारी कब से शुरू करे: जानिए विस्तार से, सम्पूर्ण जानकारी

CTETपास करने के लाभ

  • यदि आप टीचर बनना चाहते हैं तो आपको CTETका एग्जाम पास करना होगा.
  • CTET एग्जाम क्लियर करने के बाद आप टीचर के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • CTETएग्जाम क्लियर करने के बाद सरकारी टीचर बनने की संभावना बढ़ जाती है.
  • यह एग्जाम क्लियर करने के बाद समाज में प्रतिष्ठा बढ़ती है साथ ही आत्मविश्वास और सम्मान भी बढ़ाता है.
  • शिक्षा के क्षेत्र में विकास करने के लिए आपको CTET एग्जाम क्लियर करना होगा.
  • इस एग्जाम को क्लियर करके आप उच्चकोटि के शिक्षक बन सकते हैं.
  • एक टीचर के रूप में आप बच्चों के आध्यात्मिक, शारीरिक, मानसिक और शैक्षिक विकास में योगदान दे सकते हैं.
  • समाज और बच्चों की शिक्षा के विकास में योगदान दे सकते हैंशोध कार्य भी कर सकते हैं.
  • बच्चों को ट्यूशन पढ़ा सकते है या फिर किसी प्राइवेट स्कूल में भी टीचर के तौर पर काम कर सकते हैं.

CTET एग्जाम के प्रमाणपत्र की वैधता अवधि

टीचर बनने के लिए CTET का एग्जाम क्लियर करना अनिवार्य है यदि आप एग्जाम क्लियर कर लेते हैं तो आपको प्रमाणपत्र प्रदान किया जाता है जिसकी वैधता पहले तो 7 वर्ष की ही थी किंतु 2021 के बाद से CTET एग्जाम के प्रमाणपत्र की वैधता को आजीवन कर दिया गया है एक बार एग्जाम क्लियर करने के बाद आप जीवन में कभी भी प्रमाणपत्र का लाभ उठा सकते हैं.

CTET एग्जाम के आवेदन की फीस

CTET एग्जाम में बैठने से पहले आपको आवेदन करना होता है जिसके लिए आपको आवेदन शुल्क का भुगतान करना होता है जो कि प्रत्येक वर्ग के स्टूडेंट्स के लिए अलग अलग निर्धारित की जाती है सामान्य और ओबीसी कैटेगरी के विद्यार्थियों के लिए आवेदन शुल्क ₹1000 से ₹1200 तक हो सकता है इसके अलावा एससी/एसटी और अन्य वर्ग के विद्यार्थियों के लिए CTET एग्जाम के आवेदन का शुल्क ₹500 से लेकर ₹600 तक हो सकता है.

फाइनेंस मैनेजर कैसे बने?

CTET एग्जाम क्लियर करने के बाद करियर क्षेत्र

  • सरकारी स्कूलों में टीचर
  • प्राइवेट स्कूलों में टीचर
  • ट्यूशन टीचर
  • शैक्षणिक संस्थान में शोधकर्ता
  • समाजसेवी
  • प्रशिक्षण संस्थानों में टीचर
  • शिक्षा प्रबंधक
  • शिक्षा सलाहकार

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का यह “लेख CTET पास करने के लाभ CTET के  होता है, पूरी जानकारी” पसंद आया होगा यदि आपको ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं.

1 thought on “CTET पास करने के फायदे: CTET क्या होता है? पूरी जानकारी”

Leave a Comment