कम्युनिकेशन स्किल क्या होती है? | कम्युनिकेशन स्किल क्या है?

आपको समाज में तथा अपने प्रोफेशनल लाइफमें कितना सम्मान और तिरस्कार मिलेगा यह आप पर तथा आपके व्यवहार और आपकी भाषा पर निर्भर करता है यदि आप सरल भाषा का प्रयोग करते हैं जिसमे सामने वाले व्यक्ति को अपने लिए प्रेम और सम्मान की भावना झलकती है

तो इससे आपके संबंध में मधुरता बनी रहेगी और भविष्य में आपको अपना लक्ष्य प्राप्त करने में आसानी होगी इसके लिए आपको अपनी कम्युनिकेशन स्किल में सुधार करना होगा आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको कम्युनिकेशन स्किल डेवलप करने से संबंधित जानकारियां प्रदान करेंगे जिससे आप अपने अंदर परिवर्तन लाकर सफलता की नई ऊंचाईयों को प्राप्त कर सकेंगे इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें.

कम्युनिकेशन स्किल क्या है?

जब कोई व्यक्ति अपनी बात, विचार या भावनाएँ अर्थात किसी भी प्रकार की सूचना को एक स्थान से दूसरे स्थानपर पहुंचाता है तो वह कम्युनिकेशन कहलाता हैं जिसका सीधा सा अर्थ होता है सूचना का आदान प्रदान करना। कम्युनिकेशन लैटिन भाषा का शब्द है.

communication skills kya hai hindi
communication skills kya hai hindi

यदि आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको लोगो से कनेक्ट रहना होगा जिसके लिए आपके अंदर कम्युनिकेशन स्किल होनी चाहिए कम्युनिकेशन स्किल के माध्यम से आप दूसरे व्यक्तियों की भावनाओं को समझ सकते हैं तथा अपनी भावनाओं को व्यक्त कर सकते हैं आपकी कम्युनिकेशन स्किल में आपका व्यवहार, चरित्र, विचार, संस्कार सभी चीजें प्रदर्शित होती है जिससे लोगों को आपकी पर्सनालिटी के बारे में पता चलता है इसलिए कहा जा सकता है कि अच्छी कम्युनिकेशन स्किल होने से आपके सभी कार्य सरलता पूर्वक हो जाते हैं.

कम्युनिकेशन स्किल के प्रकार

  • रिटेन कम्युनिकेशन स्किललिखित माध्यम से अपनी बातऔरविचार लोगों के समक्ष प्रस्तुत करना लिखित संचार यानी रिटर्न कम्युनिकेशन कहलाता है जैसे-बैनर के माध्यम से कम्पनी का विज्ञापन करना रिटेन कम्युनिकेशन का उदाहरण है.
  • वर्बल कम्युनिकेशन स्किललोगों से बातचीत करके अपने भाव, विचार और भावनाओं कोव्यक्त करना मौखिक संचार यानी वर्बल कम्युनिकेशन कहलाता है ज़्यादातर लोग वर्बल कम्यूनिकेशन स्किल काप्रयोग करते हैंअन्य लोगों के संपर्क में रहने के लिए तथा अच्छे संबंध बनाए रखने के लिए वर्बल कम्यूनिकेशन स्किलका प्रयोग किया जाता है.
  • नॉन वर्बल कम्युनिकेशन स्किल जब लोग अपनी बातों और विचारों को व्यक्त करने के लिए ना ही लिखित और ना ही मौखिक संचार का प्रयोग करते हैं बल्कि अपनी बात प्रस्तुत करने के लिए अपने शरीर के विभिन्न अंगों की गतिविधियों का प्रयोग करते हैउसे अमौखिक संचार यानी नॉन वर्बल कम्युनिकेशन स्किल कहते हैं इसमें व्यक्ति अपनी बॉडी लैंग्वेज के माध्यम से लोगों को अपनी बात समझाने का प्रयास करता हैएक मूक और बधिर व्यक्ति इस बात का उपयुक्त उदाहरण है.

कम्युनिकेशन के साधन

  • लोगों के समूह
  • टेलीविजन
  • रेडियो
  • सोशल मीडिया
  • अखबार
  • इंटरनेट
  • दूरभाषयंत्र
  • डाकआदि

कम्युनिकेशन स्किल को बढ़ाने के लिए मुख्य तरीके

  • सरल भाषा का प्रयोग करना चाहिए
  • खुले विचार होना चाहिए
  • विचारों के हिसाब से बॉडी लैंग्वेज का प्रयोग करना चाहिए
  • वक्ता बनने से पहले अच्छे स्रोता बनने का प्रयास कीजिए
  • आंखो से आंखें मिलाकर बात करनी चाहिए
  • समस्या होने पर खुलकर बात करनी चाहिए
  • पॉइंट टू पॉइंट बात करनी चाहिए जिससे आपमें आत्मविश्वास उत्पन्न होगा और आप अपनी बात को प्रभावशील बना सकेंगे
  • शब्दों का सही इस्तेमाल करना चाहिए जिससे आपके स्वभाव का पता चलता है

कम्युनिकेशन स्किल का महत्त्व

  • यदि आप नौकरी या अन्य कोई कार्य करते हैं तो आपको अपने साथियों के साथ बातचीत करके उनके विचारों को समझने का प्रयास करना चाहिए इससे संबंध में मधुरता बनी रहेगी.
  • यदि आप एक विद्यार्थी तो आपके लिए कम्युनिकेशन स्किल बहुत ही महत्वपूर्ण है आप एक अच्छी कम्युनिकेशन स्किल डेवलप करके विद्यार्थी जीवन में होने वाली समस्याओं ठीक कर सकते हैं साथ ही अपने विचारों दूसरों के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं.
  • यदि आप एक गृहिणी हैं तो ऐसे में एक अच्छी कम्युनिकेशन स्किल डेवलप करना आपके लिए बहुत ही लाभकारी हो सकता है परिवार के सदस्यों से बातचीत करके रिश्तों में मधुरता बनाए रखने तथा नए कार्यों को सीखने के लिए कम्युनिकेशन स्किल बहुत ही जरूरी है क्योंकि इससे आप परिवार के सभी सदस्यों की मानसिकता और विचार जान सकतीं हैं और परिवार को संगठित रख सकतीं हैं.
  • मनुष्य अपने दैनिक जीवन में रोज़ न जाने कितनी बातें करता है किंतु कभी कभी अपनी बात प्रस्तुत करने में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है ऐसे में यदि आप बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल डेवलप कर लेते हैं तो आप लोगों से कनेक्ट कर सकेंगे और आपकी पर्सनालिटी डेवलप होगी साथ ही व्यक्तिगत विकास भी होगा.

बच्चो की कम्युनिकेशन स्किल में सुधार

समाज में लोगों से अच्छे सम्बन्ध बनाए रखने के लिए व्यक्ति में बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल होनी बहुत ही आवश्यक है इसलिए शुरू से बच्चों को कम्युनिकेशन स्किल के बारे में अच्छी जानकारी प्रदान करनी चाहिए जिससे उन्हें बड़े होने पर भविष्य में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए आपको बचपन से ही बच्चों को सही तरीके से गाइड करना होगा उन्हें कम्युनिकेशन स्किल से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां देनी होंगी बच्चों में सही विकास हो रहा है या नहीं इस बात की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप उन्हें लोगों के बीच भेज कर यह चेक कर सकते हैं कि उनमें कम्युनिकेशन स्किल डेवलप हो रही है या नहीं यदि कोई कमी हो तो उनमे सुधार करके कमियों को दूर कर सकते हैं जिससे भविष्य में बच्चे एक अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स के साथ अपना जीवन बेहतर कर सकेंगे.

कम्युनिकेशन स्किल से जीवन को बनाए सरल

आप अपने अंदर कम्युनिकेशन स्किल डेवलप करके अपने जीवन को सरल बना सकते हैं क्योंकि किसी भी कार्य को करने के लिए आपको बातचीत करने की आवश्यकता पड़ती है यदि आप में एक बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल है तो आप चीजों को बहुत ही सरलता के साथ कर सकेंगे लोगों को समझने में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी जिससे संबंधों में मधुरता बनी रहेंगी आप अपनी बात कहने से कभी घबराएंगे नहीं और अपने विचारों को लोगों के सामने प्रस्तुत कर सकेंगे इससे आपके जीवन पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ेगा.

आशा है कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया आज का आर्टिकल “कम्युनिकेशन स्किल के क्या होती है” पसंद आया होगा यदि आप ऐसे ही किसी अन्य विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमें कमेंट कर सकते हैं.

Leave a Comment