Krishi Sakhi Yojana 2024: देश के 90,000 महिलाओं को मिलेंगी ट्रेनिंग अब हर महीने होगी ₹80,000 तक कमाई

Krishi Sakhi Yojana 2024: आज के टाइम में हर एक क्षेत्र में महिलाएं आगे रहती है और इसलिए अब आधुनिक कृषि तकनीकों और बेहतर खेती के तरीके के बारे में ट्रेनिंग देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है जिसका नाम है ‘कृषि सखी योजना’. इस योजना को 15 जून 2024 दिन मंगलवार को वाराणसी में शुरू करते हुए पीएम मोदी द्वारा कृषि सखियों को सर्टिफिकेट भी बांटा गया है इस योजना के द्वारा महिलाएं सशक्त एवं आत्मनिर्भर बना सकेंगी तो अगर आप भी कृषिष की योजना के बारे में पूरी इन्फॉर्मेशन चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

Krishi Sakhi Yojana 2024

कृषि में सुधार करने के लिए भारत सरकार द्वारा कृषि सखी योजना की शुरुआत की गई इस योजना के द्वारा ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को कृषि से जुड़े तरह तरह की कारण जैसे बीज प्रसंस्करण, जैविक खाद निर्माण, मृदा परीक्षण, फसल कटाई के बारे में ट्रेनिंग दी जाएगी जिसके द्वारा महिलाएं ना सिर्फ किसानों की मदद कर पाएंगी बल्कि कृषि क्षेत्र में अच्छा ज्ञान भी प्राप्त कर पाएंगी इससे उनकी आय भी अच्छी होगी ट्रेनिंग के बाद महिला कृषि सखी गांव में कृषि उद्यमी भी बन सकती है और इसके अलावा महिलाएं ना सिर्फ किसानों को सलाह देंगी बल्कि खुद की भी कृषि शुरू कर अच्छी आमदनी कमा सकती है.

कृषि सखी योजना 2024 डिटेल्स

योजना कृषि सखी योजना
विभाग कृषि और ग्रामीण विकास मंत्रालय
लाभ ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को प्रशिक्षण देकर कृषि की तैयार करना
उद्देश्य किसानों को तकनीकी के अंदर समर्थन देना
लाभार्थी देश की सभी महिलाएं
आवेदन ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइट जल्द लॉन्च की जाएगी

       

कृषि सखी योजना का मुख्य उद्देश्य

भारत सरकार द्वारा कृषि सखी योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य किसानों की तकनीकी ज्ञान और समर्थन देना है जिसके लिए किसानों को सहायता के लिए कई महिलाओं को प्रशिक्षण देकर कृषि शक्ति के रूप में तैयार किया जाता है जिससे वहाँ खेती की अलग अलग कामों में किसानों की मदद कर सकती हैं और उनकी सालाना इनकम 60 हजार से 80 हजार रूपये तक हो जाएगी ये योजना कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए शुरू की गई है जिससे महिलाएं अपने जीवन में आत्मनिर्भर बन सकेंगी.

किसानों की मददगार के साथ कमाई भी

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई शिक्षक की योजना के अंतर्गत किसानों की कृषि की विशेषताओं के बारे में बताया जाएगा जिससे लिए ग्रामीण महिलाओं को ट्रेनिंग भी दी जाएगी इससे महिलाएं खेती में किसानों की मदद कर पाएंगी तो वहीं दूसरी ओर जो महिलाएं बेरोजगार हैं उन्हें रोजगार भी उपलब्ध हो जाएंगे और किसानों की आय में भी बढ़ोतरी होगी क्योंकि इस योजना के अंतर्गत किसान कृषि शक्ति के लिए उन महिलाओं को सेलेक्ट किया जाएगा जिन्हें खेती के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी है.

इस योजना के अंतर्गत कृषि सखियों को विभिन्न कृषि पद्धतियों के बारे में विस्तार से बताया जाएगा जिससे महिलाएं किसानों को सही ढंग से सहायता करने और उनका मार्गदर्शन देने में सुसज्जित होंगी कृषि मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक महिलाएं 1 साल में 60,000 से ₹80,000 तक की कमाई से कर सकती है इसके अलावा आपको बता दें कि अब तक 70,000 से चौथे कृषि को पैरा एक्सटेंशन एक्टिविस्ट के तौर पर सर्टिफिकेट भी प्रदान किया जा चुका है.

पहले चरण में इन राज्यों में कृषि सखी योजना शुरू की जाएगी

इस योजना के अंतर्गत लगभग 3 करोड़ महिलाओं को सरकारी योजना के द्वारा लखपति बनना है जिनमें से लगभग एक करोड़ महिलाओं का लक्ष्य प्राप्त हो चुका है बाकी की 2 करोड़ महिलाओं को कृषि शहरी योजना के द्वारा सशक्त आत्मनिर्भर बनाया जाएगा महिलाओं की भागीदारी को बढ़ाने के लिए कृषि और ग्रामीण मंत्रालय द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है और इन दोनों मंत्रालयों द्वारा समझौता ज्ञापन पर साइन भी किया है देश के 12 राज्यों में कृषि सभी योजना का पहला चरण शुरू कर दिया गया है जैसे-

  • उत्तर प्रदेश
  • मध्यप्रदेश
  • गुजरात
  • महाराष्ट्र
  • झारखंड
  • मेघालय
  • आन्ध्रप्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • ओडिशा
  • राजस्थान
  • कर्नाटक
  • तमिलनाडु

90,000 महिलाओं को दी जाएगी ट्रेनिंग

देश के इन 12 राज्यों में इस योजना को शुरू किया जाएगा जिसमें से लगभग 90 हजार महिलाओं ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी और यह ट्रेनिंग कृषि विज्ञान केंद्र तथा से विभाग द्वारा ही दी जाएगी कृषि कार्यक्रम के अंतर्गत अब तक लगभग 36 से ज्यादा कृषि सखियों को पैरा एक्सटेंशन कर्मी के रूप में सर्टिफाइड किया जा चुका है.

इन कृषि महिलाओं को कृषि पैरा विस्तार कार्यकर्ताओं के रूप में इसलिए चुना गया क्योंकि उन्हें खेती के बारे में अच्छी समझ होती है कृषि पैर एक्सटेंशन में शामिल होने वाली महिलाओं को 56 दिनों तक ट्रेनिंग भी प्रदान की जाती है जिसमें उन्हें भूमि की तैयारी से लेकर फसल काटने तक इकोलॉजिकल प्रैक्टिस भी करवाई जाती है.

कृषि सखी योजना 2024 के लाभ

  • खेती में अलग अलग कामों के द्वारा किसानों की मदद करने कृषि साख से ₹1000 तक की सालाना इनकम अर्जित कर सकते हैं.
  • कृषि सखी को प्रतिमाह संसाधन शुल्क भी दी जाएगी ये योजना ग्रामीण महिलाओं को रोजगार देने के लिए भी अच्छा अवसर है.
  • इस योजना के द्वारा खेती में महिलाओं की भागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी.
  • कृषि की योजना के अंतर्गत कृषि सखी योजना के अंतर्गत पहले चरण में लगभग 90 हजारों महिलाओं को ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी.
  • इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली ट्रेनिंग में बीच की स्थापना और मैनेजमेंट मृदा स्वास्थ्य एकीकृत कृषि प्रणाली पशुधन प्रबंधन की मूल बातें बायो इनपुट की तैयारी उपयोग बयान में दुकानों का स्थापना और बुनियादी संचार कौशल के बारे में भी विस्तार से बताया जाएगा.

कृषि सखी योजना 2024 के लिए योग्यता

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन के लिए महिला की आयु 18 साल से अधिक होनी चाहिए.
  • इस योजना को देश के 12 राज्यों से लागू किया गया है.
  • इस योजना का लाभ केवल भारतीय महिलाएं ही ले सकेंगी.
  • गरीब और निम्न वर्ग की महिलाओं को इस योजना के लिए योग्य माना जाएगा.

कृषि सखी योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • आय प्रमाणपत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर आदि

कृषि सखी योजना 2024 के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया

  • कृषि सखी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कृषि विभाग कार्यालय में जाना है.
  • वहाँ पर आपको इस योजना के लिए आवेदन फॉर्म लेना है.
  • आवेदन फॉर्म लेने के बाद आपको उसमें पूछी गई सभी जानकारियां भरना है.
  • उसके बाद जो भी दस्तावेज मांगे गए हैं वो आपको फॉर्म के साथ में अटैच कर देना है.
  • सभी जानकारियां भरने और कागज अटैच करने के बाद आपको इस फॉर्म को वहीं जमा कर देना है जहाँ से आपने इसे लिया था.
  • आवेदन फॉर्म जमा करने के बाद आपको एक रसीद मिल जाएगी जिससे आप को सही रखना है.
  • उसके बाद इससे संबंधित अधिकारी आवेदन फॉर्म की जांच करेंगे सही फॉर्म होने के बाद कृषि सखी के रूप में आपका चयन होगा.

Leave a Comment