Himachal Pradesh Gobar Kharid Yojana 2024: आवेदन प्रक्रिया, पात्रता और उद्देश्य

Himachal Pradesh Gobar Kharid Yojana 2024: हमारे देश में किसानों को लाख देने के लिए सरकार द्वारा तरह तरह की योजनाएं शुरू की जाती है और अब इसी को देखते हुए हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा पशुपालकों और किसानों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की गई जिसका नाम है गोबर खरीद योजना इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा पशुपालकों और किसानों से गोबर की खरीददारी की जाएगी मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने धर्मशाला के पुलिस ग्राउंड से 11 दिसंबर को इस योजना की अनाउंसमेंट की थी और अब पशुपालक गोबर बेचकर अपनी आय में वृद्धि कर पाएंगे और पशुपालन में भी बढ़ोतरी होगी तो अगर आप भी इस योजना से संबंधित पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें.

हिमाचल प्रदेश गोबर खरीद योजना 2024

हिमाचल प्रदेश पशुपालकों और किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए सरकार द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है जिसका नाम रखा गया है गोबर खरीद योजना हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह द्वारा 11 दिसंबर को इस योजना की घोषणा की गयी है इस योजना के शुरू होने से राज्य में पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी और पशुपालन का व्यापार भी बढ़ेगा क्योंकि इससे लोग जानवरों का गोबरा बेचकर पैसे कमा पाएंगे और पशुओं के दूध से भी उन्हें लाभ होगा इस योजना के द्वारा पशुपालन को बढ़ावा देकर आय में वृद्धि की जा सकेगी.

हिमाचल प्रदेश गोबर खरीद योजना 2024 डिटेल्स

योजना गोबर खरीद योजना
शुरू की गई मुख्यमंत्री सुखविन्दर सिंह सुक्खू द्वारा
राज्य हिमाचल प्रदेश
गोबर की कीमत 2 रुपये किलो
लाभार्थी हिमाचल प्रदेश के सभी नागरिक
उद्देश्य पशुपालकों और किसानों की आय में वृद्धि करना और पशुपालन को बढ़ावा देना
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
ऑफिसियल वेबसाइट जल्द शुरू की जाएगी

 

हिमाचल प्रदेश गोबर खरीद योजना 2024 का उद्देश्य

सरकार द्वारा गोबर खरीद योजना शुरू करने का मुख्य उद्देश्य किसानों और पशुपालकों की आय में वृद्धि करना और पशुपालन को बढ़ावा देना है इसके लिए सरकार ने ₹2 प्रति किलो के हिसाब से गोबर खरीदने की बात कही है इस योजना के द्वारा आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा और दूध की कीमतों से भी आई में वृद्धि की जाएगी अभी तक गोबर का इस्तेमाल सिर्फ खेती के लिए किया जाता था लेकिन अब इसे बेचकर लोग पैसे कमा सकेंगे जिससे किसान और पशुपालकों की आर्थिक स्थिति मजबूत बनेगी.

एक ब्लॉक में 250 पशुपालकों को रजिस्टर्ड किया जाएगा

हिमाचल प्रदेश में गोबर खरीद योजना के अंतर्गत गोबर खरीदने के लिए कृषि विभाग और पशुपालन विभाग द्वारा दो नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया गया है जिसके शुरुआती चरण में एक ब्लॉग से 250 पशुपालकों को रजिस्टर्ड किया जाएगा इसके अंतर्गत छोटे और सीमांत किसानों का लाभ देने के लिए उनके क्लस्टर बनाए जाएंगे उसके बाद क्लस्टर में शामिल होने वाले किसानों व पशुपालकों को कृषि के साथ साथ मुर्गी पालन जैसे कामों को करने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा इसके अलावा किसानों को की सब्सिडी योजनाओं का भी लाभ मिलेगा.

गोबर खरीद योजना के लाभ

  • हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा गोबर खरीद योजना को शुरू किया गया है.
  • इस योजना के द्वारा किसानों और पशुपालकों से गोबर की खरीद की जाएगी और ये गोबर 2 रूपये किलो में खरीदा जाएगा.
  • इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में 250 किसानों को रजिस्टर्ड किया जाएगा.
  • इससे किसानों की आय में वृद्धि होगी और पशु पालन को भी बढ़ावा मिलेगा.
  • इस योजना का लाभ किसानों को देने के लिए उनके क्लस्टर बनाए जाएंगे साथ ही किसानों को सरकार की अनुदान योजनाओं का भी लाभ मिलेगा.

गोबर खरीद योजना के लिए योग्यता

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी होना जरूरी है.
  • सिर्फ किसान या पशुपालक ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं.

गोबर खरीद योजना 2024 के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • वोटर आईडी कार्ड आदि.

हिमाचल प्रदेश गोबर खरीद योजना 2024 के लिए आवेदन प्रक्रिया

अगर आप हिमाचल प्रदेश के निवासी हैं और आप इस योजना के अंतर्गत अपना आवेदन करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं-

  • सबसे पहले आपको अपने किसी पास के पशुपालन या कृषि विभाग कार्यालय में जाना है.
  • वहाँ पर आपको गोबर खरीद योजना के लिए आवेदन फार्म लेना है.
  • उसके बाद फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियां अपने डॉक्यूमेंट से मिलकर भरनी है.
  • उसके बाद जो भी दस्तावेज मांगे गए वो आपको फॉर्म के साथ में अटैच कर देने है.
  • और आपको अपना फॉर्म वापस से विभाग में जमा कर देना है जहाँ से आपने इसे लिया था.
  • इस तरह से आप गोबर खरीद योजना के अंतर्गत अपना आवेदन कर सकते हैं.
  • आवेदन करने के बाद विभाग द्वारा एक ब्लॉक के 250 किसानों को इस योजना के लिए सेलेक्ट किया जाएगा.
  • उसके बाद सेलेक्ट किए गए व्यक्तियों से उनका गोबर ₹2 प्रति किलो के हिसाब से खरीद लिया जाएगा.

Leave a Comment